पर्यटक स्थलों को पर्यटन के रुप में विकसित करने हेतु लिये गये कई महत्वपूर्ण निर्णय। कोडरमा

कोडरमा। झारखंड राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा सार्थक प्रयास किया जा रहा है। राज्य के सभी जिलों में जहां पर्यटकों को बढ़ावा देने की संभावना है, वैसे जिलों में पर्यटन के दृष्टिकोण से कार्य किये जा रहे हैं। वहीं कोडरमा जिला को पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए जिला प्रशासन द्वारा कार्य योजना तैयार कर कार्य किया जा रहा है। कोडरमा जिला में पर्यटन क्षेत्र में बेहतर करने हेतु उपायुक्त श्री आदित्य रंजन के मार्गदर्शन पर कई कार्य किये जा रहे हैं। सभी पर्यटन स्थलों में नो कॉस्ट, लो कॉस्ट और हाई कॉस्ट का निर्धारण करते हुए सूची तैयार की जा रही है।

नो कॉस्ट के तहत ग्रामीणों के द्वारा पर्यटक स्थलों की साफ-सफाई की जा रही है, जो सरानीय है। इस कड़ी में आज समाहरणालय सभागार में उपायुक्त श्री आदित्य रंजन की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पर्यटन संवर्धन समिति की बैठक आहूत की गयी। उपायुक्त महोदय के द्वारा सर्वप्रथम पूर्व में जिला स्तरीय पर्यटन संवर्धन समिति की बैठक में लिये गये प्रस्तावों पर की गयी कार्रवाई की समीक्षा किया गया। *तिलैया डैम को पर्यटन के रुप में विकसित करने की कवायद की जा रही हैःडीसी* बैठक में तिलैया डैम के वर्तमान संरचना के जीर्णोद्धवार एवं सौन्दर्यीकरण हेतु कई कार्यों को करने का निर्णय लिया गया है, जिसके लिए कार्रवाई की जा रही है। उपायुक्त श्री रंजन ने बताया कि तिलैया डैम को पर्यटन के रुप में विकसित करने की कवायद की जा रही है।

तिलैया डैम में तीन दिवसीय एडवेंचर प्रोग्राम का आयोजन किया जायेगा। तिलैया डैम में वोटिंग एरिया को शिफ्ट करना औऱ उसके लिए नया रास्ता बनाने के लिए प्रस्ताव बनाया गया है। तिलैया डैम में फूड प्लाजा का निर्माण किया जायेगा। साथ ही तिलैया डैम में तीन मंजिला वाच टावर का निर्माण, सीढ़ी का सुदृढ़ीकरण,गेट एवं सीटिंग चेयर का निर्माण के साथ-साथ पार्किग की व्यवस्था की जायेगी। घुड़मेश्वर (घुड़सिमर) धाम के मंदिर परिसर में पेवर ब्लॉक लगाया जायेगाः

उपायुक्त श्री रंजन ने बताया कि घुड़मेश्वर (घुड़सिमर) धाम में पूरे मंदिर परिसर, विवाह स्थल व पार्किंग स्थल पर पेवर ब्लॉक निर्माण किया जायेगा। साथ ही संपूर्ण मंदिर का जीर्णोद्धवार, रंग-रोगन एवं उसके चारों तरफ लोहे की ग्रील का भी निर्माण किया जायेगा।*पेट्रो जलप्रपात में दूसरी कुंड शिव मंदिर तक सीढ़ी एवं रेलिंग का निर्माणः उपायुक्त श्री रंजन ने बताया कि पेट्रो जलप्रपात में पहली कुंड में 4 फीट गड्ढा जल कुंड का निर्माण, पहली कुंड से दूसरी कुंड शिव मंदिर तक सीढ़ी एवं रेलिंग का निर्माण, महिलाओं के लिए चेजिंग रुम का निर्माण, चिल्ड्रेन पार्क के साथ-साथ चार बायो टॉयलेट का निर्माण किया जायेगा। इसके अतिरिक्त करमा बाबा धाम को भी पर्यटक स्थल के रुप में विकसित करने का निर्णय लिया गया। शिवसागर तालाब, चंचाली पहाड़ी, पंचखेरो जलाशय व खरियोडीह शिवमंदिर का सौंदर्यीकरण हेतु स्थलीय निरीक्षण।

..उपायुक्त श्री रंजन ने बताया कि डोमचांच प्रखंड अंतर्गत शिवसागर तालाब, चंचाली पहाड़ी, मरकच्चो प्रखंड अंतर्गत पंचखेरो जलाशय एवं जयनगर प्रखंड अंतर्गत खरियोडीह शिवमंदिर का सौंदर्यीकरण को लेकर स्थल निरीक्षण करने का निर्णय लिया गया। साथ ही आई लव कोडरमा का फ्लैक्स व समाहरणालय परिसर में छोटा पार्क का निर्माण किया जायेगा। वृंदाहा जलप्रपात जाने वाले हर रास्ते में साइनेज लगाने का निर्देश दिया गया।

उपस्थितिः- मौके पर माननीय विधायक डॉ नीरा यादव, वन प्रमंडल पदाधिकारी सूरज कुमार सिंह, अध्यक्ष सह कार्यकारी प्रधान जिला परिषद् श्रीमति शालिनी गुप्ता, उप विकास आयुक्त लोकेश मिश्रा, निदेशक डीआरडीए नेलसम एयोन बागे, अपर समाहर्ता अनिल तिर्की, अनुमंडल पदाधिकारी मनीष कुमार, जिला पर्यटन पदाधिकारी प्रवीण कुमार, जिला योजना पदाधिकारी राम निवास प्रसाद सिंह, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी व समिति के सदस्यगण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *