शीघ्र कार्रवाई नहीं तो होगा सिविल सर्जन ऑफिस का घेराव साहिया।

सरायकेला खरसावां जिले के गम्हरिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की साहियाओ ने सोमवार को स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे जांच टीम के समक्ष एक बार फिर जमकर हंगामा किया lसाहिया स्वास्थ्य केंद्र के अकाउंटेंट द्वारा मानदेय भुगतान के एवज में घूस मांगे जाने से काफी आक्रोशित है। स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के मामले में हस्तक्षेप के बाद आज जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करने पहुंची थी।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में व्याप्त भ्रष्टाचार और अकाउंटेंट की मनमानी को लेकर यहां की सहियाओं ने स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात कर अकाउंटेंट की शिकायत की थी जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने जिले के सिविल सर्जन को जांच कर दोषी
अकाउंटेंट को बर्खास्त करने का निर्देश दिया है।स्वास्थ्य
मंत्री के निर्देश के बाद सोमवार को 3 सदस्यीय जिला स्तरीय जांच कमेटी गम्हरिया सीएससी पहुंची. जहां जांच कमेटी के पहुंचते ही सहियाओं ने अकाउंटेंट और स्वास्थ्य केंद्र में
व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ जमकर हंगामा किया । बताया, कि
पिछले डेढ़ साल से प्रोत्साहन राशि का भुगतान नहीं किया गया है, जबकि जिला से फंड आवंटित हो चुका है।इसके अलावा जो प्रोत्साहन राशि उन्हें दिया जाता है, उसमें भी भारी कटौती की जाती है। बिल के अनुसार उन्हें प्रोत्साहन राशि नहीं दिया जाता है। इसके अलावा केंद्र में बच्चा जननेवाली महिलाओं को सरकारी प्रोत्साहन राशि भी नहीं दिया जाता है।यहां तक, कि जिस जगह पर गर्भवती महिलाओं का प्रसव कराया जाता है, वहां भी साफ-सफाई गर्भवती के परिजनों से कराया जाता है। इसके अलावा बंध्याकरण कराने वाली महिलाओं को भी प्रोत्साहन राशि नहीं दिया जाता है।
वहीं जांच टीम के सदस्य चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर प्रदीप पति ने बताया कि अभी जांच चल रही है. रिपोर्ट सिविल सर्जन को सौंपा जाएगा. जांच दल में डॉक्टर वीणा सिंह और डॉक्टर अजय कुमार ने भी अपनी रिपोर्ट सिविल सर्जन को सौंपेगे। वही सहियाओ ने कहा अगर शीघ्र कार्रवाई नहीं होती है, तो सिविल सर्जन ऑफिस का घेराव करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *